10 months ago#1
Joined:21-07-2019Reputation:0
Posts: 7 Threads: 2
Points:235Position:PV1

SEX STORIES --- 21 CENTURY KI SAMBOG KAHANIYA

रहना है तेरी चूत में – 1

[​IMG] 

हैल्लो दोस्तों, कैसे हैं आप सभी ? मेरा नाम मनीष है और मैं मुंबई का रहने वाला हूँ | मेरी उम्र 26 साल है और मैं फिलहाल फॉरेन जाने की सोच रहा हूँ | दोस्तों, आज मैं आप लोगो को एक कहानी बताने जा रहा हूँ | ये कहानी मेरी पहली कहानी है और मैं आप लोगो से उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो के मेरी ये कहानी जरुर पसंद आयगी | तो अब मैं ज्यादा समय नहीं लूँगा और अपनी कहानी चालू करता हूँ |

दोस्तों, मैं स्कूल टाइम और कॉलेज टाइम से ही बहुत बिंदास बंदा था | मेरी लाइफ में न ही चुदाई मायने रखती थी न ही कोई लड़की | बस मेरे कुछ दोस्त थे जिनको लड़की चोदने का बहुत शौक था | एक दिन की बात है दोस्तों, मैं और मेरा दोस्त सिग्नल ओपन होने का वेट कर रहे थे | तभी मुझे एक लड़की दिखी | उस का नाम रीना है और अब वो मेरी बीवी है | मैं उसको देख कर पागल सा हो गया | वो पैदल कहीं जा रही थी | उसका फिगर बहुत सेक्सी है और दिखने में बहुत ही सुन्दर है | मैं उसी टाइम उसपे फ़िदा हो गया | जी हाँ मुझे उससे प्यार हो गया | मैंने बिना कुछ सोचे ही उसके पीछे गाड़ी लगाने की सोचा उतने में ही हम ट्रक से टकरा गए | मैं तो उठ के उस लड़की की पीछे पीछे भागने लगा | बेचारा मेरा दोस्त को सिग्नल तोड़ने के जुर्म में चालान भरना पड़ा | जब वो लड़की शौपिंग माल गयी तो मैं भी उसके पीछे वहां चला गया | मैं उसके प्यार में पड़ गया था | उसने कॉफ़ी पी तो मैंने उसका डिस्पोजल उठा लिया | जिस प्लेट में खाना खाई वो भी उठा ली | उसके बाद पता नहीं दोस्तों वो अपनी फ्रेंड के साथ चली गयी | मै उसे देख ही नहीं पाया | एक दिन बात है दोस्तों, मैं और मेरे दोस्त मेरे घर में बैठ के मस्ती कर रहे थे | तभी मेरा मन सिगरेट पीने का किया तो मैंने अपने दोस्त से कहा कि चल यार आते हैं बाहर से | फिर हम दोनों जैसे ही टपरे में गए | तभी मेरी नजर उसकी फ्रेंड पर पड़ी | जिसका नाम श्रुति है | मैंने सिगरेट फेंकी और अपने दोस्त से कहा कि अबे चल मुझे उस लड़की की फ्रेंड मिल गई है |

फिर हमने उसे रोका | उसने पूछा कि आप लोग कौन हैं ? तो मैंने बताया कि जिस लड़की के साथ आप उस दिन थी ना उसके फ्रेंड्स हैं | तो उसने कहा अच्छा तो आप लोग रीना के फ्रेंड हैं | तब मुझे उसका नाम पता चला | तो फिर उसने पूछा कि तुम लोगो को मुझसे क्या काम है ? तो मैंने कहा कि यार मुझे उससे कुछ बहुत जरुरी बात करनी है | पर मेरे पास उसका नंबर नहीं है | तो मुझे श्रुति ने नंबर दे दिया | मैं बहुत खुश हो गया | उसके बाद हम श्रुति को थैंक्स बोल के वापस टपरे गए और सिगरेट पीने लगे | फिर हम घर आ गए | रात हो चुकी थी मैं घर पर ही था | मेरे घर में मैं और बस मेरे पापा रहते हैं जो कि एक दम दोस्त जैसे हैं | तभी मैंने कॉल किया रीना के नंबर पर | जैसे ही फ़ोन उठा तो मैं हैल्लो भी नहीं बोल पाया | और उसकी दोस्त श्रुति ने बोलना चालू कर दिया कि हैल्लो राजीव क्या बात है ? अकेले अकेले मिलने का प्लान बना लिया रीना से | मुझे बताया तक नहीं | पर मुझे सब पता है कि तुम दोनों की अगले हफ्ते सगाई है और तुम सगाई से पहले रीना के साथ टाइम स्पेंड करना चाहते हो | पर तुम दोनों ने एक दूसरे को नहीं देखा इसलिए पहले जान पहचान बढ़ाना चाहते हो | इतना सब सुन कर मैंने फोन काट दिया | मेरे दिम्माग की बत्ती बुझ गई | बहनचोद मेरे तो कुछ समझ ही नहीं आ रहा था | मैं नीचे गया तो देखा कि मेरे पापा और मेरे दोस्त बैठ कर मस्ती कर रहे थे | मैंने उन्हें सारी बात बता दी | अब साला सभी टेंशन में आ गये कि इसको पहली बार कोई लौंडिया पसंद आई | और वो भी अपनी मैया चुदवाने में लगी है | तभी मेरे दोस्त ने मुझे आईडिया दिया कि देख गांडू लौंडिया ने लौंडे को देखा नही है | उसे नहीं पता कि राजीव कैसा दिखता है | तो तू एक काम कर तू ही राजीव बन के चले जा | पर लौड़े सुन एक हफ्ते बाद नहीं तू अभी कल जा | फिर मैंने पूछा कि मादरचोद अगर इसी बीच राजीव का फोन आ गया तो मेरे लौड़े लग जायेंगे | तभी मेरे पापा ने कहा कि तुम लोग अभी जाओ और उसके फोन का तार काट दो | हम लोग ने उसके घर जा कर उसके फोन का तार का दिया | अगले दिन मैंने उसके घर पर ढेर सारे फूल भिजवाये इम्प्रेस करने के लिए पर वो परेशान हो गयी थी | उसके बाद मैं खुद फूल ले के गया और कहा कि अ ब्यूटीफुल रोज फॉर अ ब्यूटीफुल लेडी | तो उसने गुस्से में कहा कि मादरचोदो और कोई काम नही है क्या झांटे सुलगा दी सुबह से फूल भेज भेज कर | जैसे ही मैंने अपना नाम राजीव बताया तो उसने दरवाजा बंद कर दिया | बहनचोद मेरा दिमाग सटक गया फिर मैंने दरवाजा खटखटाया |

उसने खोला और खुद ही बोल पड़ी राजीव फ्रॉम अमेरिका मैंने कहा यस | उसके बाद हम बैठ कर बात करने लगे | उसके बाद उसने अपने ऑफिस से छुट्टी ले ली और मैंने कहा कि यार अपन एक हफ्ता साथ में बिताएंगे | 5 दिन में ही वो मुझसे अच्छा खासा इम्प्रेस हो गयी | छटवें दिन उसका जन्मदिन था | तो मैंने उससे कहा कि चल यार तेरे घर में ही तेरा बर्थडे मनाएंगे | तो उसने भी हाँ कर दिया | उसके बाद हमने उसका जन्मदिन साथ में बहुत अच्छे से मनाया | तभी अचानक लाइट चली गई | जैसे ही लिघ गयी उसके बाद बारिश शुरू हो गई | अब समां रंगीन हो चुका था और हम दोनों आँखे आपस में लड़ने लगी | उसके बाद उसने मेरे होंठ में अपने होंठ रख दिए और मेरे होंठ को चूसने लगी | मैं भी उसका साथ देते हुए उसके होंठ को चूसने लगा साथ में उसके दूध को भी दबाने लगा | फिर उसके बाद मैंने उसके सलवार को उतार दिया और ब्रा को भी | उसके परकी टाइप के दूध हैं | अब मै उसे हाँथ से दबाते हुए उसके निप्पलस को अपनी ऊँगली से मसलने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारियां लेने लगी |

फिर मैंने उसके दू दूध को अपने मुंह में भर लिया और जोर जोर से मसलते हुए चूसने लगा | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे लंड को सहलाने लगी ऊपर से ही | उसके बाद मैंने उसके पूरे कपडे उतार दिए और उसे लेटा दिया | अब मैं उसकी टाँगे चौड़ी कर के उसकी चूत चाटने लगा | और उसके मुंह इ आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्कारियां निकलने लगी | अब मैंने भी अपने सारे कपडे उतार दिया और पूरा नंगा हो गया | उसके बाद उसने मेरे लंड को चाटना चालू कर दिया और अच्छे से मेरे लंड को चाटने लगी तो मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारियां लेने लगा | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में डाल ली और चूसने लगी | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके दूध को मसलने लगा |

फिर मैंने उसे घोड़ी बना दिया और उसकी चूत में अपना लंड डाला और चोदने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते चुदाई के मजे लेने लगी | फिर मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दिया और जोर जोर से उसके दूध मसलते हुए चोदने लगा और वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए ससिस्कारिया लेने लगी | करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद मैंने उसकी चूत में ही झड गया | और उसके बाद लाइट भी आ गयी | अब दोनों दोनों बाजू मेंलेते हुए बात करने लगे और शादी के बारे में प्लानिंग करने लगे |
इस कहानी के अगले भाग में मैं बताऊंगा कि हमारी शादी कैसे हुई |
10 months ago#2
Joined:21-07-2019Reputation:0
Posts: 7 Threads: 2
Points:235Position:PV1

रहना है तेरी चूत में – 2
[​IMG]

हैल्लो दोस्तों मैं मनीष आप लोगो के सामने फिर से कहानी को पूरा करने के लिए हाजिर हूँ | मुझे उम्मीद है कि आप लोगो को इस कहानी का पहला भाग अच्छा लगा होगा | और मैं आशा करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी का ये भाग भी पसंद आयगा |


उसकी चुदाई के बाद मैं घर आ गया | पर मेरी गांड फटने लगी थी अगले दिन का सोच कर | क्यूंकि अगले दिन राजीव आने वाला था | अगले दिन उसे सब सच्चाई पता चलने वाली थी रीना को | जब रीना को सच्चाई का पता चला कि मैं झूट बोल के रीना को पटाया था | अब वो मुझसे नफरत करने लगी थी और मुझसे बात नही करती थी | मुझसे फ़ोन पे भी बात नहीं करती थी और श्रुति से बोल दिया कि अगर ये कही भी मिले तो लंड के बाल से बात भी मत करना | इसने गांडू ने झूट बोल के मुझे चोदा | अब तो बहनचोद मेरा भी पारा हाई हो गया था क्यूंकि मादारचोद मुझसे प्यार करती है और बहनचोद उस राजीव के साथ शादी करेगी | मैंने अपने दोस्तों को फ़ोन किया और कहा कि बहनचोद उस लौंडे को मारने चलना है | तो उन्होंने पूछा किसे तो मैंने बताया उसी राजीव को | अब हम उसके घर का पता पता करके गये उसके घर | राजीव उस समय घर में नहीं था | हम सब उसके घर में तोड़-फोड़ करने लगे | उसके दोस्त को भी मेरे दोस्त लोग ने मारा | तभी राजीव घर आया | मैं उसे देख के चौंक गया | वो भी मुझे देख के चौंक गया | क्यूंकि कॉलेज में हम साथ में थे और हमारी आपस में कभी नहीं बनी | आज इतने सालो बाद हम मिलेंगे और ऐसे मिलेंगे ये हमने कभी नही सोचा था |

मैंने राजीव की कॉलर पकड़ी और कहा कि सुन बे मादरचोद | ये कोई कॉलेज का खेल नहीं है | ये मेरी जिन्दगी का सवाल है | इसलिए लौड़े समझा रहा हूँ ध्यान से सुन | मैं रीना से बहुत प्यार करता हूँ और रीना भी मुझसे प्यार करती है | तेरे आने की वजह से कुछ मिस-अंडरस्टैंडिंग हो गयी है | तो भलाई इसी में है कि तू यहाँ से उलटे पाओ भाग जा | धमकी देने के बाद हम सब उसके घर से निकल गये | पर वो मादरचोद हरामी है ये बात मैं बहुत अच्छे से पहले से जानता हूँ | मुझे मालूम था कि वो नहीं जायगा | उस बहनचोद ने रीना से मिल के सब बता दिया जो कुछ भी किया था हमने | रीना ने श्रुति के जरिये मुझसे अपना गुस्सा निकलवाया | मेरे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि मैं कैसे उससे बात करू | एक दिन मैंने खूब दारू पिया | मैंने फिर अपने दोस्तों से कहा कि इस लंड के बाल को मारेंगे आज | हम लोग फिर अपार्टमेंट में गए और जब वो कार से निकला तभी मेरे दोस्तों ने मारना शुरू कर दिया | अब वो उनकी पकड़ में था | मैं भी हाँथ में पंच फंसा कर गया और मारने वाला था कि रुक गया | पता ही नहीं क्यूँ मेरे हाँथ उसपे उठे ही नहीं | मैंने उससे कहा मादरचोद जा यहाँ से | तो मेरे दोस्तों ने कहा अबे लौड़े मारना अच्छा मौका है मार इस भडवे को |

पर मैंने सिर्फ यही कहा छोड़ दो बे इसको | जा बे लौड़े तू | फिर वो चला गया और हम सब बैठे थे दारू पी रहे थे | मैंने अपने दोस्तों से कहा कि अबे माँ चुदाये वो लड़की | बहनचोद को भूल जाऊंगा | तभी मेरे दोस्त ने कहा अबे झान्टू तू तो उसे प्यार करता है न | तो मैंने कहा माँ की चूत ऐसे प्यार की लौड़े से वो मेरे बहन की लौड़ी | फिर एक दिन सगाई हो रही थी उसकी और राजीव के तब मेरे पापा वहां गए | जब उन्होंने समझाया राजीव को तो वो मादरचोद ने कुछ भी नहीं सुना | फिर एक दिन हम पिक्चर देख कर लौट रहे थे | तभी रास्ते में वो भी लौंडो के साथ आया | और मैं तो अपने दोस्तों के साथ ही रहता था | तब हम लोग की बीच मुन्ह्चोदी हुई और हल्की फुलकी धक्का मुक्की हुई | उसने मुझे कार्ड दिया और कहा कि सुन बे लौड़े मेरी और रीना की शादी हो रही है और बहनचोद गलती से भी मत आना | मैंने भी कह दिया जा बे भड्वो की शादी में जाता भी नहीं हूँ | फिर हम चले गए अपने अपने रास्ते | मैंने भी कॉल लैटर का जवाब दे दिया और जिस दिन उसकी शादी थी उसी दिन मेरी फ्लाइट भी थी | पता नही क्या हुआ वो लंड का बाल राजीव मेरे पास आया एअरपोर्ट और वहा मुहचोदी करने लगा | तो मैंने भी कहा दिया कि भोसड़ी के अपना काम देख तू | मेरे फटे में टांग मत अडाना | तभी रीना भी वहां आ गयी | और उसने मुझसे कहा कि मादरचोद तू मुझे छोड़ के जायगा क्या ? मैं समझ गया कि इनकी बहन की चूत शादी नही हुई इनकी |

फिर उसके बाद मैंने राजीव को थँक्स कहा तो उसने कहा सुन बे लौड़े तेरे मेरे बीच कभी दोस्ती नहीं होगी समझा | मैंने भी कहा ठीक है गांडू | फिर मैंने अपनी फ्लाइट कैंसिल कर दी और हम सब घर आ गए | फिर मैं और रीना मेरे रूम में गए | वो तो शादी के जोड़े में ही थी | फिर मैंने उसके घूंघट को उतारा तो वो शरमाने लगी | तो मैंने कहा कि क्यू रे लौड़ी पहली चुदाई हुयी थो तब तू नहीं शरमाई अब क्यू शरमा रही है ? तो उसने कहा कि अच्छा ठीक है नही शरमाती | उसने इतना ही कहा कि मैंने अपने होंठ उसके होंठ पे रख दिए और उसके होंठ को चूसने लगा | वो भी मेरा साथ देते हुए मुझे किस करने लगी और मेरे होंठ को चूसने लगी | फिर मैंने उसकी साड़ी का पल्लू उतार दिया और ब्लाउज के बटन खोल दिए | अब मैं ब्रा के ऊपर से ही उसके दूध को मसलने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | फिर मैंने उसकी ब्रा भी खोल दिया और उसके दोनों दूध को अपने मुंह में ले कर चूसने लगा | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर के बालो को सहलाने लगी | उसके बाद मैंने भी अपने कपडे पूरे उतार कर नंगा हो गया |

अब वो मेरे लंड को चाटने लगी और मेरे मुंह से आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ की सिस्कारिया निकलने लगी | फिर उसने मेरे लंड को अपने मुंह में डाला और चूसने लगी आगे पीछे करते हुए | मैं भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए उसके बालो को समेटने लगा | मेरे लंड चुसाई के बाद मैंने उसकी पूरी साड़ी उतार दिया | अब मैं उसे लेटा कर उसकी टाँगे चौड़ी कर दिया और अपनी जीभ उसकी चूत पर रख कर फेरने लगा | वो भी आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए सिस्कारिया लेने लगी | फिर मैंने उसकी चूत के अन्दर अपनी जीभ डाल कर चूसने और चाटने लगा तो वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी | फिर मैं उसकी टाँगे उठा कर अपने कंधे पर रख लिया और उसकी चूत में अपना लंड टिका कर एक ही झटके में अन्दर घुसेड दिया और चुदाई करने लगा | वो भी अपनी गांड उठा उठा कर आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करने लगी | फिर मैंने अपनी चुदाई की स्पीड बढ़ाते हुए उसकी चूत को जोर जोर से धक्के मार मर के चोदने लगा और वो आआहाआ ऊऊन्न्ह ऊऊम्म्ह ऊउम्म ऊउन्न्ह अहहाआअहाअ अहहहा हहहाआअ अहहहाआ ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह ऊनंह ऊउम्म्म्ह अहहहाआआअ आहाआआउन्ह ऊउन्न्ह ऊउम्म्ह आहा आआआहा ऊउम्म्ह ऊउन्न्ह आअहाआअ करते हुए आहे भरने लगी | फिर करीब 45 मिनट की चुदाई के बाद मैंने अपना माल उसकी चूत में ही डाल दिया |

उसके बाद दोस्तों उसके घर वालो की और मेरे घर वालो की बैठक हुई और फिर हमारी शादी तय हो गयी | शादी के कुछ महीने बाद ही वो प्रेग्नेंट हो गयी | तो दोस्तों, ये थी मेरी कहानी | मैं उम्मीद करता हूँ कि आप लोगो को मेरी कहानी का ये भाग भी बहुत पसंद आया होगा |
  What's going on
   Active Moderators
  Online Users
All times are GMT +5.5. The time now is 2020-06-05 13:40:00
Log Out ?

Are you sure you want to log out?

Press No if youwant to continue work. Press Yes to logout current user.